मंगलवार, 1 दिसंबर 2020

आवरण चित्र: मर्डर ऑन वैलेंटाइन्स

कर्षक आवरण चित्र  की बात की जाए तो हालिया रिलीज़ हुई एक किताब का आवरण चित्र ऐसा है कि यह सबका ध्यान अपनी ओर आकृष्ट कर रहा है। हिन्दी पल्प के स्वर्ण युग में जिस तरह से पेंट किये हुए आवरण चित्रों का ट्रेंड था कुछ उसी तरह का आवरण चित्र इस किताब का भी है।  अब तो ज्यादातर कवर डिजिटल रूप से बनाये जाते हैं जिनमें अलग अलग चित्रों को डिजिटल रूप से जोड़ा जाता है। इससे कवर तो आसानी और सस्ते में बन जाता है लेकिन इन आवरण चित्रों को देखने में मुझे तो वह मजा नहीं आता है क्योंकि सब स्टॉक फोटो होती हैं जिससे यह फैक्ट्री में बनाई गयी प्रतीत होती हैं। कोई नोवेल्टी इनमें नहीं होती है।

गुरुवार, 19 नवंबर 2020

आवरण चित्र: लकड़ी का रहस्य

ज मैं आपके समक्ष राजा बाल पॉकेट बुक्स द्वारा प्रकाशित बाल उपन्यास लकड़ी के रहस्य का आवरण चित्र लेकर आ रहा हूँ। एक जमाना हुआ करता था जब एस सी बेदी जी के किरदार राजन इकबाल सभी बच्चों के पसंदीदा किरदार हुआ करते थे। उसी दौरान एस सी बेदी जी के कई बाल उपन्यास प्रकाशित हुए थे। ऐसा कहा जाता है कि एस सी बेदी जी ने इस दौरान 1500 के करीब बाल उपन्यास लिखे थे। जितने ये बाल उपन्यास रोचक होते थे उतने ही रोचक इनके आवरण चित्र होते थे।

रविवार, 8 नवंबर 2020

आवरण चित्र: एक्सीडेंट एक रहस्य कथा - अनुराग कुमार जीनियस

आज जो आवरण चित्र मैं आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ वह अनुराग कुमार जीनियस के उपन्यास एक्सीडेंट एक रहस्यकथा का है। यह किताब सूरज पॉकेट बुकस से प्रकाशित है। चूँकि  मैंने इस किताब को उनके सेट के साथ ही खरीदा था तो आवरण चित्र उस वक्त तो गौर से नहीं देखा था लेकिन अब देख रहा हूँ तो मुझे रोचक लग रहा है। सबसे पहले आप आवरण चित्र देख लीजिए।

मंगलवार, 27 अक्तूबर 2020

आवरण चित्र: हिमसुंदरी

ज मैं आपके समक्ष यमुना दत्त वैष्णव की किताब हिमसुंदरी का आवरण चित्र लेकर आया हूँ। हिमसुंदरी मैंने 2018 के दिल्ली विश्व पुस्तक मेले से खरीदी थी। पुस्तक मेलों में मुझे घूमना पसंद रहा है क्योंकि उधर काफी ऐसी किताबें मिल जाती हैं जिनके विषय में पुस्तक मेले में जाने से पहले मुझे कोई जानकारी नहीं रहती है। ऐसे में नई और अनजान किताबों को मैं अपने साथ लेकर आ जाता हूँ। 2018 के दिल्ली पुस्तक मेले में भी ऐसी काफी किताबें मेरे साथ मेरे घर आईं थीं। 2018 के इस पुस्तक मेले की मेरी घुमक्कड़ी का वृत्तांत आप निम्न लिंक पर जाकर पढ़ सकते हैं:

नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला- 2018 

रविवार, 4 अक्तूबर 2020

आवरण चित्र: The Demon Hunter of Chottanikkara

मुझे अक्सर ऐसे उपन्यास पढ़ना पसंद है जिसमें परालौकिक तत्व(सुपरनेचुरल एलिमेंट्स) मौजूद हों। राक्षस, भूत प्रेत, पिशाच जैसे जीवों की कल्पना करना और उनको लेकर लिखे गये कथानक पढ़ना एक रोमांच से मुझे भर देता है। ऐसे उपन्यासों की एक ख़ास बात तो इनके आवरण चित्र ही होते हैं जो कि बहुत ही रोचक बनाये जाते हैं। 

शनिवार, 26 सितंबर 2020

विज्ञापन #1

 वैसे तो हिन्दी अपराध साहित्य में छपने वाले आवरण चित्र ही बहुत रोचक होते हैं लेकिन कवर्स के बाद जो चीजें मुझे रोचक लगती हैं वो इन किताबों के बीच में छपने वाले विज्ञापन। कई बार तो विज्ञापन साधारण होते हैं लेकिन कई बार विज्ञापनों में रेखा चित्र दिए होते हैं। हमेशा से ही ऐसे रेखा चित्रों के प्रति मेरा आकर्षण रहा है। यह रेखा चित्र जिन किताबों के विज्ञापन देते हैं उनके प्रति रूचि जगाते ही जगाते हैं। अब निम्न रेखा चित्र देखिये:

शनिवार, 22 अगस्त 2020

आवरण चित्र: Moon - James Herbert

गर रोचक आवरण चित्रों की बात करूँ तो जेम्स हर्बर्ट के उपन्यास मून का नाम उनमें लेना गलत न होगा। जेम्स हर्बर्ट ब्रिटिश लेखक हैं जो अपने हॉरर उपन्यासों के लिए जाने जाते हैं। यह उपन्यास मुझे याद है मैंने दरियागंज बाज़ार से 2017 में लिया था और उस वक्त जब पहली बार मैंने उपन्यास उठाया था तो मुझे पहले पहल तो लगा था कि आवरण चित्र फटा हुआ है। लेकिन जब मैंने गौर से देखा तो पाया कि यह आवरण चित्र फटा नहीं था बल्कि यह इसके खबूसूरत और रोचक डिजाईन का हिस्सा था। आगे बढ़ने से पहले आप आवरण चित्र ही देख लीजिये:

सोमवार, 27 जुलाई 2020

आवरण चित्र: कागज की नाव - सुरेन्द्र मोहन पाठक


कागज की नाव - सुरेन्द्र मोहन पाठक

कागज की नाव सुरेन्द्र मोहन पाठक द्वारा लिखा गया एक अपराध गल्प है। सुरेन्द्र मोहन पाठक जी का नाम किसी किताब से जुड़ा हो तो यह लगभग तय होता है कि उपन्यास अपराध गल्प होगा। यह संस्करण वेस्टलैंड द्वारा प्रकाशित किया हुआ है। 

मंगलवार, 23 जून 2020

आवरण चित्र: रहस्य - जनप्रिय लेखक ओम प्रकाश शर्मा

हुत दिनों से इधर कुछ पोस्ट नहीं कर पाया हूँ। इसका एक कारण यह भी है कि कई दिनों से कोई रोचक आवरण चित्र नहीं दिखा। इस महीने वैसे भी पढ़ना कम ही हुआ। अब जनप्रिय ओम प्रकाश शर्मा जी का उपन्यास रहस्य पढ़ने को निकाला है। 

गुरुवार, 2 अप्रैल 2020

आवरण चित्र : घाचर घोचर

आवरण चित्र : घाचर घोचर
साहित्यिक उपन्यासों के आवरण चित्र भी कई बार रोचक बन पड़ते हैं। विवेक शानभाग के उपन्यास घाचार-घोचर ने आते ही प्रसिद्धि पा ली थी। जब पहली बार मैंने इस उपन्यास का नाम सुना था तो उस वक्त मूल रूप से कन्नड़ में लिखे गये इस उपन्यास का अंग्रेजी संस्करण ही बाज़ार में आया था। नाम अजीब था और एक तरह से यह किताब के प्रति उत्सुकता जागाता था। लेकिन फिर जैसा कि अक्सर होता है आप किसी रोचक किताब के विषय में सुनते हैं और अगर उस वक्त उस पर ध्यान नहीं देते हैं तो आप उसे भूल जाते हैं।मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। कुछ दिनों बाद इसके विषय में मैं भूल गया।


लोकप्रिय पोस्ट